राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष बने नहीं रहना चाहते, उनका विकल्प बिना किसी देर के ढूंढना चाहिए

India News Politics

नई दिल्ली- असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने बुधवार को कहा कि यदि राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष बने नहीं रहना चाहते, तो उनका विकल्प बिना किसी देर के ढूंढना चाहिए। कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने पर अड़े राहुल गांधी ने बुधवार को अपने 51 सांसदों की मांग भी ठुकरा दी थी। राहुल ने कहा था कि वह अब पार्टी अध्यक्ष नहीं रहेंगे।

‘कई बार गैर-गांधी नेताओं ने भी पार्टी का नेतृत्व किया’
गोगोई ने कहा कि इस समस्या का हल हम सभी को जल्द कर लेना चाहिए। हम चाहते हैं कि राहुल अध्यक्ष पद पर बने रहें। गांधी परिवार आजादी के बाद से कांग्रेस का नेतृत्व कर रहा है। हालांकि, कई बार गैर-गांधी नेताओं ने भी पार्टी का नेतृत्व किया है, लेकिन ऐसी स्थिति में हमें गांधी परिवार के समर्थन की आवश्यकता होगी।

इससे पहले कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने भी कहा था कि गैर-गांधी भी कांग्रेस का अध्यक्ष बन सकता है, लेकिन गांधी परिवार को पार्टी में सक्रिय रहना होगा। अगर राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष बने रहते हैं तो अच्छा रहेगा, लेकिन उनकी इच्छाओं का भी सम्मान किया जाना चाहिए। वे संकट के वक्त पार्टी को संभालने में मदद कर सकते हैं।

यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को राहुल के आवास के बाहर प्रदर्शन किया। उनकी मांग है कि राहुल कांग्रेस अध्यक्ष पद न छोड़ें। उन्होंने राहुल से अपना इस्तीफा वापस लेने की मांग की। वहीं, राहुल अपने फैसले पर अडिग हैं। पार्टी के 51 सांसदों ने भी उनसे इस्तीफा वापस लेने का आग्रह किया था।

राहुल गांधी ने 25 मई को लोकसभा चुनाव की समीक्षा बैठक में पार्टी की हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दे दिया था। तब कांग्रेस कार्यसमिति ने उनसे ऐसा नहीं करने के लिए कहा था। पिछले हफ्ते राहुल ने नया अध्यक्ष चुनने की प्रक्रिया में अपनी भूमिका से साफ इनकार किया था।