भोपाल में शुरू हुआ बहु-प्रतीक्षित अंतर्राष्ट्रीय वन मेला

India News

सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह के मुख्य आतिथ्य में भोपाल के लाल परेड ग्राउण्ड पर अंतर्राष्ट्रीय हर्बल वन मेला शुरू हुआ। वन विभाग और राज्य लघु वनोपज संघ द्वारा आयोजित वन मेले में देश-प्रदेश, भूटान और नेपाल के प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। पाँच दिवसीय मेले में 19 से 22 दिसम्बर तक निरूशुल्क चिकित्सीय परामर्श शिविर, 20-21 दिसम्बर को कार्यशाला और 22 दिसम्बर को क्रेता-विक्रेता सम्मेलन होगा।
मेले में पहंुचे प्रदेष के सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने कहा कि हमारे देश में हजारों वर्ष से जड़ी-बूटियों से इलाज की परम्परा रही है। आयुर्वेद की विदेशों और देश में पुनरू बढ़ती लोकप्रियता उसकी विश्वसनीयता को सुदृढ़ करती है। उन्होंने हर्बल मेले के माध्यम से जन-जागरूकता के प्रयास की प्रशंसा करते हुए कहा कि लघु वनोपज संघ जड़ी-बूटियों के रिसर्च के लिये फण्ड स्थापित करे। डॉ. सिंह ने कहा कि हजारों वर्ष पूर्व हमारे देश में धनवंतरी की चिकित्सा विधि और सुश्रुत की शल्य-चिकित्सा विद्यमान थी। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री श्री अर्जुन सिंह ने राज्य लघु वनोपज संघ की स्थापना कर वनोपज संग्राहकों को बिचैलियों के चंगुल से मुक्त करने का नेक काम किया। डॉ. सिंह ने आदिवासियों के भोलेपन का जिक्र करते हुए कहा कि संघ की स्थापना के पहले आदिवासी मात्र आधा किलो अनाज के बदले बिचैलियों को 2-3 किलो चिरोंजी दे दिया करते थे।