पुलिस ने बंधुआ मजदूर को कराया मुक्त

Crime Report

हिमाचल से 5 साल पहले हुआ था लापता
कृष्णा खेरिया गांव में गोबर डालते मिला एंकर- हिमाचल प्रदेश से 5 वर्ष पूर्व लापता हुआ 36 साल का कृष्णा खेरिया गांव करतार व वीकेंश गुर्जर के घर गोबर डालता हुआ मिला। आरोपित युवक को बंधक बनाकर सिर्फ दो वक्त की रोटी देकर गोबर फेंकवाने से लेकर घर के सारे काम करा रहे थे। पुलिस को पता चला है कि आरोपित कृष्णा को बांधकर रखते थे ताकि वह भाग न जाए। मुक्त कराए गए युवक की गुमशुदगी हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में दर्ज है।
वीओ-सीएसपी रवि भदौरिया ने बताया कि महाराजपुरा थाने के टीआई मिर्जा आसिफ बेग पुलिस बल के साथ खेरिया गांव वाहन चोर की तलाश करने के लिए गए थे। गांव के एक मकान का पुलिस ने दरवाजा खटखटाया। एक युवक घर से बाहर आया। वह ठंड में मैले-कुचले कपड़े पहने हुए था। पुलिस ने उसका नाम-पता पूछा तो उसकी बोली अलग थी। वह स्वयं को हिमाचल प्रदेश का बता रहा था। पुलिस को शक हुआ। हिमाचल प्रदेश का युवक यहां कहां से कैसे आया? युवक की मानसिक स्थिति भी ठीक नही लग रही थी।पड़ताल करने पर पता चला कि युवक का नाम कृष्ण पुत्र गुलाब निवाली हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले के बरांक थाना रिकोंगबिआ का रहने वाला है। कृष्णा को यहां केवल दो वक्त की रोटी पर मजदूरी कराने के लिए करतार सिंह गुर्जर व वीकेंश गुर्जर ने बंधक बनाकर रखा था। उसके साथ मारपीट करने व भरपेट भोजन भी नहीं दिए जाने का पता चला है।