दिग्विजय सिंह पर लगाया भ्रामक ट्वीट का आरोप, क्राइम ब्रांच से की शिकायत

India News Politics

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के खिलाफ सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) एक बार फिर पुलिस थाने पहुंची है. भाजपा ने दिग्विजय पर भ्रामक ट्वीट करने का आरोप लगाते हुए भोपाल क्राइम ब्रांच में लिखित शिकायत की है. दिग्विजय के खिलाफ यह शिकायत भाजपा आईटी सेल के प्रदेश संयोजक शिवराज सिंह डाबी को लेकर किए गए एक ट्वीट को लेकर की गई है.

प्रदेश के दो बार मुख्यमंत्री रहे दिग्विजय सिंह ने सोमवार को एक ट्वीट करते हुए मध्य प्रदेश भाजपा के आईटी सेल के संयोजक शिवराज सिंह डाबी को लेकर एक ट्वीट किया था. इस ट्वीट में दिग्विजय सिंह ने पूछा था कि क्या ये वही शिवराज डाबी हैं, जिसका नाम एफबीआई की मोस्ट वांटेड सूची में भी है?इस ट्वीट के साथ ही दिग्विजय सिंह ने दो फोटो भी पोस्ट किए थे, जिसमें एक फोटो में शिवराज सिंह डाबी का परिचय लिखा है तो दूसरी फोटो में डाबी भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का फूल से स्वागत करते दिख रहे हैं. एक और ट्वीट में दिग्विजय ने एक फोटो शेयर किया.इसके अलावा दिग्विजय सिंह ने इसी मुद्दे पर तीन और ट्वीट भी किए हैं. इन्ही ट्वीट्स को लेकर भारतीय जनता पार्टी क्राइम ब्रांच पहुंची और दिग्विजय सिंह की शिकायत करते हुए कहा है कि दिग्विजय सिंह ने जानबूझकर शिवराज डाबी की छवि खराब करने की मंशा से अपने ट्विटर एकाउंट से मनगढ़ंत सामग्री शेयर की है.इसके अलावा दिग्विजय सिंह ने इसी मुद्दे पर तीन और ट्वीट भी किए हैं. इन्ही ट्वीट्स को लेकर भारतीय जनता पार्टी क्राइम ब्रांच पहुंची और दिग्विजय सिंह की शिकायत करते हुए कहा है कि दिग्विजय सिंह ने जानबूझकर शिवराज डाबी की छवि खराब करने की मंशा से अपने ट्विटर एकाउंट से मनगढ़ंत सामग्री शेयर की है.शिवराज सिंह डाबी का कहना है कि दिग्विजय सिंह ने मुझे समाज में नीचा दिखाने की मंशा से मुझ पर निराधार आरोप लगाते हुए मुझे एफबीआई का इंडियन सायबर फ्यूजिटिव कहा है. दिग्विजय सिंह को यह जानकारी है कि मेरे खिलाफ अमेरिका के किसी भी न्यायालय में कोई मामला विचाराधीन नहीं है, न ही वर्तमान में कोई अमेरिकी जांच एजेंसी मेरे खिलाफ किसी तरह की जांच कर रही है.

उन्होंने कहा कि इसके बावजूद दिग्विजय सिंह ने मेरी और मेरे परिवार की छवि खराब करने के उद्देश्य से अनर्गल बातें कही हैं. दिग्विजय सिंह की ओर से ट्वीट किए जाने के बाद से मेरे मित्र, परिचित और रिश्तेदार कई बार फोन पर पूछताछ कर चुके हैं, जिससे मैं और मेरा परिवार अपमानित महसूस कर रहे हैं. डाबी ने कहा कि इसलिए मैंने मांग की है कि दिग्विजय सिंह के खिलाफ उचित वैधानिक कार्रवाई की जाए, ताकि वे दोबारा इस तरह के निराधार आरोप ना लगाएं.